ट्रंप के फैसलों को बदलते हुए बाइडन ने शुरू किया काम

 21 Jan 2021  402

संवाददाता/in24 न्यूज़.
अमूमन जब एक बड़ा नेता कोई फैसला लेता है तो उसके जाने के बाद उस फैसले पर कायम रहना ज़रूरी नहीं होता. जो बाइडन ने बुधवार को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति और कमला हैरिस ने पहली महिला उपराष्ट्रपति के तौर पर शपथ ग्रहण कर ली है. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शपथ ग्रहण समारोह हुआ. पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों को रोकने के लिए कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) के आसपास हजारों सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए थे. डेमोक्रेटिक नेता बाइडन (78) को प्रधान न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स ने कैपिटल बिल्डिंग के ‘वेस्ट फ्रंट’ में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी. हालांकि समारोह में कम लोगों को बुलाया गया था और नेशनल गार्ड के 25,000 से अधिक जवान को सुरक्षा में तैनात किया गया था. डोनाल्ड ट्रंप, बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए और अंतिम बार राष्ट्रपति के तौर पर व्हाइट हाउस से विदा लेते हुए विमान से फ्लोरिडा स्थित अपने स्थायी आवास ‘मार-आ-लागो एस्टेट’ के लिए रवाना हो गए. देश के 46 वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद अपने पहले ट्वीट में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा कि जब अमेरिका संकटों का सामना कर रहा है तो बर्बाद करने का समय नहीं है. बिडन ने ट्वीट किया कि हमारे सामने आने वाले संकटों से निपटने के लिए समय बर्बाद करने का समय नहीं है. इसीलिए मैं आज ओवल ऑफिस जा रहा हूं. बाइडेन ने राष्ट्रपति पद लेते ही अपनी नीतियों को लागू करने की शुरुआत कर ली है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बाइडेन ने अपने कार्यकाल के पहले ही दिन पूर्व राष्ट्रपति के ट्रंप की नीतियों को बदलते हुए 17 आदेश जारी किये हैं. राष्ट्रपति ने जो कदम उठाए हैं उनमें पेरिस जलवायु समझौते को फिर से शामिल करने और मुख्य रूप से मुस्लिम और अफ्रीकी देशों पर ट्रंप के यात्रा प्रतिबंध को समाप्त करने के आदेश थे. राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बुधवार को जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए अंतर्राष्ट्रीय पेरिस समझौते में अमेरिका की वापसी की घोषणा कर दी. पीएम मोदी ने बाइडेन को शपथ लेने के बाद पर बधाई दी और कहा कि वह भारत-अमेरिका संबंधों को नई ऊंचाई प्रदान करने के लिए बाइडन के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. पीएम मोदी ने कहा कि जो बाइडन को संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने पर हार्दिक बधाई. भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए उनके साथ काम करने को उत्सुक हूं.  प्रधानमंत्री ने एक और ट्वीट कर कहा कि अमेरिका का नेतृत्व करने के लिए सफल कार्यकाल की शुभकामनाएं. साझा चुनौतियों का सामना करने और वैश्विक शांति तथा सुरक्षा के लिए हम साथ खड़े हैं. भारतीय मूल की कमला देवी हैरिस ने ऐतिहासिक शपथ ग्रहण समारोह के दौरान बुधवार को अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ली. हैरिस (56) अमेरिका की 49वीं उपराष्ट्रपति हैं. कमला देवी हैरिस ने 61 वर्षीय माइक पेंस की जगह ली है, जबकि बाइडन ने डोनाल्ड ट्रंप की जगह ली है. चेन्नई निवासी प्रवासी भारतीय की बेटी हैरिस ने अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति बनकर इतिहास रच दिया है. वह इस पद पर पहुंचने वाली पहली अश्वेत एवं पहली एशियाई अमेरिकी भी हैं. बता दें कि जिस तरह भारतीय मूल के लोगों पर अमेरिका ने भरोसा किया है उससे दोनों देशों के रिश्तों में और मजबूती आ सकती है.