ब्राज़ील पहुंची भारत से कोरोना वैक्सीन, बजरंगबली की फोटो से पीएम मोदी का शुक्रिया

 23 Jan 2021  717

संवाददाता/in24 न्यूज़.  
कोरोना काल में दुनिया के अनेक देशों ने भारी संकट का सामना किया। अब भारत अनेक देशो की मदद कोरोना वैक्सीन के जरिए कर रहा है. ब्राज़ील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो ने भारत द्वारा कोरोना वायरस वैक्सीन की 20 लाख डोज भेजने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया अदा किया है. शुक्रवार को भारत ने कोरोना वायरस वैक्सीन की खेप ब्राज़ील पहुंचा दी है. ब्राज़ीलियाई राष्ट्रपति ने पुर्तगाली में एक ट्वीट किया, जिसका अनुवाद था - नमस्कार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वैश्विक बाधा को दूर करने के प्रयासों में भारत के एक महान भागीदार होने के लिए ब्राजील बेहद आज खुद को बेहद सम्मानित महसूस कर रहा है. ब्राजील को कोविड वैक्‍सीन के रूप में मदद करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद. ब्राज़ील के राष्ट्रपति के इस ट्वीट में भगवान हनुमान की एक तस्वीर भी थी जिसमें भारत से ब्राजील तक 'संजीवनी बूटी' के रूप में कोरोना वायरस का टीका था. इससे पहले ब्राजील के राजदूत आंद्रे अरान्हा कोरेया लागो ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया को धन्यवाद दिया. पिछले कुछ दिनों में भारत ने भूटान, मालदीव, नेपाल, म्यांमार और बांग्लादेश सहित पड़ोसी देशों को, देश में निर्मित होने वाले कोविड-19 टीकों की आपूर्ति की है. इससे पहले भी ब्राज़ील के राष्ट्रपति अपने बयानों के कारण चर्चा में रहे हैं. राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो ने हालही में कहा था कि फाइजर-बायोएनटेक टीका लोगों को मगरमच्छ में बदल सकता है या महिलाओं में इससे दाढ़ी बढ़ सकती है. समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार उन्होंने कहा कि यदि आप एक मगरमच्छ में बदल जाते हैं, तो यह आपकी समस्या है. बोल्सोनारो ने फाइजर वैक्सीन के डिस्क्लेमर का उल्लेख करते हुए कहा कि कंपनी साइड इफेक्ट के लिए जिम्मेदार नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर आप महामानव हो जाते हैं, अगर एक महिला में दाढ़ी बढ़ाना शुरू हो जाती है या अगर एक आदमी एक कर्कश आवाज के साथ बोलना शुरू कर देता है, तो उन्हें इससे कोई लेना-देना नहीं होगा. बता दें कि भारत ने अनेक देशों को अपनी तरफ से कोरोना वैक्सीन देने का काम किया है.