हरफनमौला कलाकार किशोर कुमार की जयंती आज

 04 Aug 2021  202

संवाददाता/in24 न्यूज़
बॉलीवुड के हरफ़नमौला कलाकार किशोर कुमार अपनी गायकी और अदाकारी के लिए सदैव याद किए जायेंगे। आज उनके जन्मदिन पर पूरी दुनिया उन्हें याद कर रही है। उनका गाया हुआ लगभग हर गाना सुपरहिट है। उन्होंने फिल्म की हर विधा में अपने हाथ आज़माए सफल साबित हुए। वह अपनी आवाज के अलावा शानदार व्यक्तित्व के लिए भी मशहूर थे। अपनी इसी विशेषता को उन्होंने अपनी अदाकारी के माध्यम से पेश किया। इसके अलावा किशोर कुमार को उनकी बिंदास शख्सियत के लिए जाना जाता है। उनकी जिंदगी से जुड़े अनेक दिलचस्प किस्से हैं जिन्हें उनके चाहनेवाले जानते हैं। किशोर कुमार का जन्म 4 अगस्त 1929 को मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में हुआ था। उनका असली नाम आभास कुमार गांगुली था। उन्हें बचपन से ही फिल्मों में काम करने का शौक था। इसलिए वह अपने भाई अशोक कुमार के नक्शे कदम पर चलने लगे। किशोर की पहली डेब्यू फिल्म साल 1946 में रिलीज हुई थी, जिसमें अशोक कुमार लीड एक्टर थे। बॉलीवुड की कई फिल्मों में काम करने के बाद किशोर म्यूजिक इंडस्ट्री में अपनी असली पहचान का छाप छोड़ा। बतौर गायक सबसे पहले उन्हें वर्ष 1948 में 'बाम्बे टाकीज' की फिल्म 'जिद्दी' में देवानंद के लिये 'मरने की दुआएं क्यूं मांगूं' गाने का मौका मिला। सिंगर-एक्टर के अलावा किशोर कुमार म्यूजिक डायरेक्टर, लिरिक्स राइटर, प्रोड्यूसर और स्क्रीनराइटर भी रह चुके हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि किशोर महिलाओं की आवाज में भी गाना गाने में माहिर थे। गाना 'एक लड़की भीगी भागी सी' में किशोर ने लड़का-लड़की की आवाज में गाना गाया था। यदि बात करें उनके पर्सनल लाइफ की तो किशोर कुमार खुशमिजाज स्वभाव के थे, लेकिन निजी जिंदगी में वह अकेले ही रहे। भले ही उन्होने जिंदगी में 4 शादियां कीं, लेकिन अंदरुनी तौर पर वह अकेले ही रहे। किशोर कुमार ने पहली शादी 1950 में रूमा घोष से की थी, लेकिन यह शादी 8 साल ही चली और 1958 में दोनों का तलाक हो गया था। यही नहीं कहा जाता है कि दोनों के अलग होने से पहले ही किशोर कुमार ने मधुबाला से शादी कर ली थी। चूंकि मधुबाला दिल की मरीज थीं इसलिए वे परिवार के दबाव के चलते अलग रहने लगे थे। हालांकि किस्मत को कुछ और ही मंजूर था और 1969 में मधुबाला का निधन हो गया। इसके बाद 1976 में उन्होंगे योगिता बाली से शादी की थी, लेकिन 1978 में ही तलाक हो गया। किशोर कुमार ने चौथी शादी लीना चंदावरकर से की थी। किशोर कुमार जिंदगी में कितने अकेले थे, इस बात का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि एक बार उन्होंने कहा था कि कहने के लिए मेरा कोई दोस्त नहीं है। पेड़-पौधे ही मेरे दोस्त है। हालांकि राजेश खन्ना और आरडी बर्मन को लंबे समय तक उनके अच्छे संबंध में थे। राजेश खन्ना पर फिल्माये गए ज्यादातर गानों को किशोर कुमार ने ही आवाज दी थी। बहरहाल अपने पीछे किशोर कुमार ने दो बेटे अमित कुमार और सुमित कुमार को भी गायकी के रास्ते परपर बढ़ने के लिए प्रेरित किया।  संगीत और अदाकारी की दुनिया के इस महान कलाकार को in24 न्यूज़ परिवार की तरफ से भावभीनी श्रद्धांजलि।