मेरे फाउंडेशन का हर एक रुपया एक जिंदगी बचाने इंतजार कर रहा : सोनू सूद

 20 Sep 2021  197

संवाददाता/in24 न्यूज़.
बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने आयकर विभाग की पिछले सप्ताह हुयी छापेमारी के बाद आज अपनी चुप्पी तोड़ते हुये सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी बात रखी और कहा कि उनके फाउंडेशन का हर एक रुपया एक जिंदगी बचाने का इंतजार कर रहा है। आयकर विभाग की कार्रवाई को लेकर सुर्खियों में आये अभिनेता ने ट्विटर पर जारी अपने बयान की शुरूआत इस शेर के माध्यम से की कि सख्त राहों में भी आसान सफर लगता है, हर हिंदुस्तानी की दुआओं का असर लगता है। विभाग ने सोनू पर 20 करोड़ रुपये से अधिक की कर चोरी का आरोप लगाते हुए उनसे जुड़े 28 ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया और कई दस्तावेज़ जब्त कर लिए। विभाग ने इसको लेकर एक बयान भी जारी किया था जिसके बाद अब अभिनेता ने अपना बयान जारी किया है। अभिनेता ने अपने बयान में कहा है कि आपको हमेशा कहानी में अपना पक्ष सुनाने की ज़रूरत नहीं होती। समय बताएगा। मैंने पूरे दिल और ताक़त से ख़ुद को भारत के लोगों की सेवा में समर्पित कर दिया है। मेरे फाउंडेशन का हर एक रुपया एक ज़िंदगी बचाने और ज़रूरतमंदों तक पहुंचने का इंतज़ार कर रहा है। इसके अलावा, कई मौक़ों पर मैंने ब्रांडों को मेरी फीस किसी सामाजिक कार्य के लिए दान करने के लिए भी कहा है, जिससे हम आगे बढ़ते रहते हैं। सोनू सूद ने कहा कि पिछले चार दिनों से वह कुछ मेहमानों की ख़ातिरदारी में लगे हुये थे इसलिए आम लोगों से संपर्क में नहीं रहे। उन्होंने कहा कि मैं पूरी विनम्रता के साथ फिर लौट आया हूं। जीवन भर आपकी सेवा में। अभिनेता ने हिंदी में लिखा 'कर' भला हो भला, अंत भले का भला। ख़ास बात यह है कि सोनू ने कर (टैक्स) को इनवर्टेड कॉमा में लिखा है और जय हिंद भी लिखा है। आयकर विभाग ने तीन दिनों से मुंबई सहित देश में 28 स्थानों पर जारी छापेमारी के बाद शनिवार को जारी बयान में कहा था कि एक बाॅलीवुड अभिनेता 20 करोड़ रुपये से अधिक की कर चोरी में शामिल पाए गए हैं। गौरतलब है कि अभिनेता सोनू सूद के मुंबई स्थित परिसर पर आयकर विभाग ने बुधवार को छापेमारी शुरू की थी जो शुक्रवार को समाप्त हुई। इसके बाद केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने यहां जारी बयान में कहा कि अभिनेता 20 करोड़ से ज्यादा की कर चोरी में शामिल पाए गए हैं। बॉलीवुड अभिनेता और उनसे जुड़ी लखनऊ की एक इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी के परिसरों की तलाशी के दौरान कर चोरी से जुड़े सबूत मिले हैं। विभाग ने मुंबई, लखनऊ, कानपुर, जयपुर, गुरुग्राम और दिल्ली समेत कुल 28 जगहों पर लगातार तीन दिनों तक छापेमारी अभियान चलाया। विभाग द्वारा लगाए गए आरोपों के मुताबिक कोरोना महामारी से प्रभावित लोगों की मदद के लिए चैरिटी फाउंडेशन बनाया गया। जिसने पिछले साल जुलाई में कोविड की पहली लहर के दौरान 18.94 करोड़ रुपये से अधिक का डोनेशन जुटाया था। इस साल अप्रैल तक, उसमें से 1.9 करोड़ रुपए राहत कार्यों पर खर्च किए गए हैं और बाकी के बचे 17 करोड़ फाउंडेशन के बैंक खाते में बिना इस्तेमाल के रखे गए हैं। विभाग ने अभिनेता के फाउंडेशन को विदेशी धन के लेन देन में कानून का उल्लंघन करता हुआ भी पाया है। सीबीडीटी ने कहा कि ऐसा देखा गया है कि चैरिटी फाउंडेशन ने क्राउड फंडिंग प्लेटफॉर्म पर (विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम) एफसीआरए नियमों का उल्लंघन करते हुए विदेशी दानदाताओं से 2.1 करोड़ रुपये की राशि भी जुटाई है। बहरहाल अब देखना होगा कि अभिनेता सोनू सूद की इस प्रतिक्रिया से आगे क्या होता है!