फिल्म कागज़ में सरपंच बने एक्टर विजय कुमार

 11 Jan 2021  381
संवाददाता/in24 न्यूज़.

सलमान खान की फिल्म "बजरंगी भाईजान", ऋतिक रोशन की फिल्म "सुपर 30", "अनार कली ऑफ आरा" जैसी कई फिल्मों में महत्वपूर्ण भूमिकाओं से दर्शकों का भरपूर प्यार पाने वाले ऐक्टर विजय कुमार की चर्चा आजकल पंकज त्रिपाठी के मुख्य अभिनय से सजी हालिया प्रदर्शित फिल्म "कागज़" की वजह से हो रही है जिसमें विजय कुमार एक सरपंच के बेहद अहम रोल में दिखाई दे रहे हैं। यह भी इत्तेफ़ाक़ की बात है कि इस फिल्म को सलमान खान ने अपने बैनर से प्रेजेंट किया है, जिसे सतीश कौशिक ने डायरेक्ट किया है। खैर विजय कुमार की जर्नी बड़ी संघर्ष भरी रही है और कई वर्षों में उन्होंने टीवी से लेकर फिल्मों तक में अपनी अदाकारी से सबका दिल जीता है। क्या आपको टेलीविजन शो "निमकी मुखिया" का किरदार टेटर सिंह याद है? वह विजय कुमार ही ने निभाया है, जो न केवल अपने अद्भुत अभिनय के लिए जाने जाते हैं, बल्कि अपने शानदार संवादों के लिए भी जाने जाते हैं। मल्टी टैलेंटेड एक्टर विजय कुमार रंगमंच में भी एक चर्चित नाम रहे हैं। जब उनसे पूछा जाता है कि आपने थिएटर, टेलीविजन और अब फिल्में की हैं। इन सब में काम करने में आपको क्या फर्क महसूस होता है और कौन सा आपके दिल के करीब है? तो वह कहते हैं "मैंने अपने करियर की शुरुआत थिएटर से की है और यह मेरे दिल के बहुत करीब है। थिएटर में आपको लाइव दर्शकों के माध्यम से तुरंत सराहना मिलती है। टेलीविजन और फिल्मों में काम करते समय हम अपना 100 प्रतिशत देने की कोशिश करते हैं। मैं थिएटर, फिल्मों के साथ-साथ टेलीविजन भी करते रहना चाहता हूं।" क्या आपको फिल्म "कागज़" साइन करने से पहले कोई आशंका थी? विजय कुमार तुरन्त जवाब देते हैं "नहीं, मुझे ब्लैक कॉमेडी कागज़ को साइन करने के बारे में कोई संदेह नहीं था क्योंकि यह इतना अलग और अनूठा विषय था। मुझे इस बारे में बहुत अच्छा अहसास हुआ।" क्या आप इस फिल्म में अपने चरित्र के बारे में विस्तार से बता सकते हैं? विजय कुमार कहते हैं "मैं इस फिल्म में सरपंच का सशक्त किरदार निभा रहा हूं। पंकज त्रिपाठी के साथ इस तरह का किरदार निभाना मेरे लिए एक सपना सच होने जैसा है। दर्शक सरपंच को एक अलग अवतार में पसंद करेंगे।" इस फिल्म का कांसेप्ट वास्तव में आकर्षक है। इस पर आपके क्या विचार हैं? विजय कुमार कहते हैं "पंकज त्रिपाठी की कागज़ एक अनोखी जीवनी पर आधारित फ़िल्म है। फिल्म की अवधारणा आजमगढ़ (यू.पी.) के एक छोटे से गाँव के किसान लाल बिहारी के जीवन और संघर्ष पर आधारित है, जिसे कागज पर मृत घोषित कर दिया गया था। फिल्म में अपनी पहचान के संकट पर एक आम आदमी की हास्य यात्रा को दर्शाया गया है। पंकज ने वह रोल किया है और वह सरपंच के पास जाते हैं कि उन्हें एक सर्टिफिकेट दे दें कि वह ज़िंदा हैं। और इसी सरपंच का रोल मैंने निभाया है। "पुरस्कार विजेता अभिनेता पंकज त्रिपाठी के साथ काम करने का आपका अनुभव कैसा रहा?" विजय कुमार ने बताया कि मल्टी टैलेंटेड पंकज त्रिपाठी के साथ काम करने का अनुभव बहुत ही अच्छा रहा है। हमेशा बहुत सहयोगी रहे हैं, उनका नेचर बेहद अच्छा है। यह मेरे लिए एक सपना सच होने जैसा है। इस कोरोना काल में शूटिंग के दौरान आप क्या सावधानियां बरत रहे हैं? वह बताते हैं "मुझे लगता है कि अतिरिक्त सावधान रहना अब एक जीवन शैली बन गई है और हर कोई इसका उपयोग करता है। जब हम सेट पर पहुंचते हैं, तो हम अपनी नियमित जांच करते हैं। मुझे लगता है कि यह सब अब एक दिनचर्या बन गई है और हमें सेट पर अतिरिक्त सावधानी बरतनी होगी। जब मैं शूटिंग पर होता हूं तो बहुत सी सावधानियां बरती जाती हैं और मैं सुरक्षित महसूस करता हूं।" आपके शो "लॉकडाउन की लव स्टोरी" की प्रतिक्रिया कैसी मिल रही है? विजय कुमार इस सवाल के जवाब में कहते हैं "लॉकडाउन के कठिन दिनों में शूट किए गए इस टेलीविजन शो लॉकडाउन की लव स्टोरी को दर्शकों से खूब प्रशंसा मिली। मैं इस शो से संतुष्ट हूं। "आप फिल्म "अतरंगी रे" में सारा अली खान के साथ काम कर रहे हैं। कैसा लग रहा है? विजय कुमार ने बताया "सारा अली खान युवा स्टार हैं जो अतरंगी रे और अन्य आगामी फिल्मों में शानदार अभिनय कर रही हैं। उनके साथ काम करना एक अच्छा अनुभव था। वह हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ देती हैं। यह उनका गुण है।" आप उन उम्मीदों पे कैसे खरे उतरने की कोशिश करते हैं जो आपके प्रशंसकों को आपसे है? विजय कुमार कहते हैं "मुझे मेरे प्रशंसकों का प्यार हमेशा प्रेरित करता है और मेरे काम को अगले स्तर तक पहुंचाता है। उनके प्रेम से मुझे एक जादुई ऊर्जा मिलती है। अभिनय के अलावा, आप और क्या करना पसंद करते हैं? विजय कुमार कहते हैं "टेलीविजन में काम करते समय आपके पास कोई अतिरिक्त समय नहीं होता है क्योंकि शूटिंग से पहले आपको ड्रेसिंग रूम में तैयार होना पड़ता है। जब भी मुझे समय मिलता है मैं अपने परिवार के साथ बिताता हूं।" हाल ही में आप जबलपुर में शूटिंग कर रहे थे। क्या आप हमसे फिल्म का विवरण साझा कर सकते हैं? विजय कुमार ने खुलासा किया "मैं निर्देशक श्रीधर और अपने छात्र आशुतोष खरे के लिए एक मर्डर मिस्ट्री फिल्म गब्बर की शूटिंग के लिए जबलपुर में था। मैं इस फिल्म में जांच करने वाले एक अधिकारी की भूमिका निभा रहा हूं। हम कह सकते हैं कि यह एक पॉवरफुल फिल्म है।" क्या आपके दिमाग में कोई ड्रीम रोल है जिसे आप एक दिन करना चाहेंगे? विजय कुमार बताते हैं "मैं अपने करियर में पावर-पैक सामाजिक, राजनीतिक व्यंग्यपूर्ण चुनौतीपूर्ण किरदार और ग्रे शेड वाली भूमिकाएं करना चाहता हूं।"